जानिये हमारे विशेषज्ञों द्वारा की आपके शरीर में वाइट ब्लड सेल क्या काम करते है !!

मैच्योर वाइट ब्लड सेलों को अपने काम में उच्च स्तरीय दक्षता प्राप्त होती है . इनमे से टी – लिंफोसाइट्स  ( थाइमस ग्रंथि से प्राप्त लसिका ) कई प्रकार के प्रतिरक्षा संबंधी काम करते हैं , जिनमे प्रमुख है विभिन्न रोग – प्रतिरक्षा संबंधी क्रियाओं को ऑन – ऑफ़ करना !

एक अन्य प्रकार के लिंफोसाइट्स , जिन्हे ” बी – सेल ” कहते है , एंटी बॉडीज का उत्पादन करते हैं . मैक्रोफैग सहित कई प्रकार के वाइट सेल सफाई का कम करते है . ये कोशिकाओं और रक्त – प्रवाह में मौजूद हर प्रकार के मलबे को चट कर जाते हैं !

साथ ही ये टी सेल की प्रमुख किस्मे हैं – किलर , सप्रेशर और हेल्पर टी सेल . हेल्पर टी सेल दुश्मन को पहचानकर किलर सेल को उत्तेजित करते हैं , जिसमे किलर सेल तुरंत दुश्मन पर हमला बोल देते हैं . अपने ही शरीर की कैंसर ग्रस्त कोशिकाओं के साथ भी टी – सेल दुश्मन वाला शालुक करता है !

अलग – अलग तरह के दुश्मन से निपटने के लिए अलग – अलग तरह के किलर सेल मोर्चा सँभालते है . लेकिन ” नेचुरल ” कहे जाने वाले किलर सेल ” दुश्मन ” की जन्मपत्री देखे बिना ही उससे भीड़ जाते है , क्योंकि इसमें हर तरह के दुश्मन से निपटने की प्राकृतिक क्षमता होती है !

” नेचुरल किलर ” को भी अपने – पराय की पूरी पहचान होती है , वरना ये शरीर की स्वस्त – कोशिकाओं को भी नष्ट कर दें . दुर्भाग्य से कैंसर या वायरस – ग्रस्त सेलों के मामले में वाइट ब्लड सेलों का ” ढूंढो और मारो ” अभियान कमजोर या फिर नाकाम हो जाता है !!

3,610 thoughts on “जानिये हमारे विशेषज्ञों द्वारा की आपके शरीर में वाइट ब्लड सेल क्या काम करते है !!