विरोध के बाद पानीपत के मेकर्स का बड़ा फैसला- फिल्म से हटाये गए कुछ सीन

अर्जुन कपूर, कृति सेनन और संजय दत्त स्टारर फिल्म पानीपत विवादों में छाई हुई है. राजस्थान में आशुतोष गोवारिकर की फिल्म के एक 55 सेकंड के सीन पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इस 55 सेकंड में फिल्माए गए सीन के डायलॉग को लेकर जाट समुदाय आक्रामक हो उठा है. आखिर क्या है इस सीन में? क्यों फिल्म को लेकर विवाद उठा है, जानते हैं.
पानीपत में भरतपुर के महाराज सूरजमल के किरदार पर विवाद है. जाटों का आरोप है कि फिल्म में महाराज सूरजमल के किरदार को गलत तरीके से पेश किया गया है. उन्हें एक लालची शासक बताया गया है. राजस्थान के जाट नेता भी फिल्म का पुरजोर विरोध कर रहे हैं.
55 सेकंड का वो सीन जो पूरी फिल्म पर भारी पड़ गया है उसमें पानीपत युद्ध से पहले राजा सूरजमल और सदाशिव राव के बीच की बातचीत दिखाई गई है. सीन में महाराजा सूरजमल कहते हैं- ”आगरे का किला मुझे सौंपा जाए वर्ना युद्ध छोड़कर चला जाऊंगा. जवाब में सदाशिव ने कहा- मंजूर नहीं, आप जा सकते हैं.” इसी सीन को देखने के बाद जाट नेता मेकर्स पर महाराजा सूरजमल को लालची दिखाने का आरोप लगा रहे हैं.
पानीपत फिल्म 8 दिसंबर को राजस्थान के कई इलाकों में हिंसा देखने को मिली. जयपुर समेत कई सिनेमाघरों में प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की. राजस्थान में फिल्म को लेकर हो रहे विरोध और हिंसा के बाद कई सिनेमाघरों में पानीपत की स्क्रीनिंग रोक दी है. पानीपत के लिए वैसे भी कमाई कर बजट निकालना मुश्किल हो रहा है. ऐसे में एक राज्य में फिल्म की स्क्रीनिंग पर रोक लगना, मूवी के बिजनेस के लिए नुकसानदेह साबित हो रहा है.

‘एस एस मिडिया डेस्क ‘

Close
error: Content is protected !!