समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में असीमानंद सहित चारों आरोपी बरी

भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में हुए बम ब्लास्ट मामले में हरियाणा की पंचकूला की विशेष एनआईए कोर्ट ने सभी चार आरोपियों असीमानंद, लोकेश शर्मा, कमल चौहान और राजिंदर चौधरी को बरी कर दिया है। इस मामले में कुल 8 आरोपी थे, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है, जबकि तीन को भगोड़ा घोषित किया जा चुका है।

ये ब्लास्ट हरियाणा के पानीपत जिले में चांदनी बाग थाने के अंतर्गत सिवाह गांव के दीवाना स्टेशन के नजदीक 18 फरवरी 2007 को हुआ था। हादसे में 68 लोगों की मौत हो गई थी और 12 लोग घायल हो गए थे। ट्रेन दिल्ली से लाहौर जा रही थी। मारे जाने वाले 68 लोगों में 16 बच्चों समेत चार रेलवेकर्मी भी शामिल थे। इस मामले में 224 गवाहों के बयान अभियोजन पक्ष की ओर से दर्ज हुए थे, जबकि बचाव पक्ष की ओर से कोई गवाह पेश नहीं हुआ। इस केस में कुल 302 गवाह थे, जिनमें चार पाकिस्तानी नागरिक थे।

इस ब्लास्ट में अपने पिता को खोने वाली पाकिस्तानी महिला राहिला वकील ने भारतीय एडवोकेट मोमिन मलिक के जरिए एनआईए कोर्ट में अर्जी दी थी। 18 मार्च की सुनवाई में एनआईए कोर्ट में दोनों पक्षों के वकीलों ने अपना-अपना पक्ष रखा था। राहिला वकील ने अपनी याचिका में कुछ और चश्मदीदों के बयान रिकॉर्ड करने की अपील की थी। इस पर अदालत ने कहा था कि चश्मदीदों को 6 बार समन भेजा गया, लेकिन वह नहीं आए।

3,048 thoughts on “समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में असीमानंद सहित चारों आरोपी बरी

  1. truly battle cheap viagra usa without prescription gross telephone cheap viagra usa without
    prescription ever grocery sale generic viagra online pills
    hardly worry [url=http://viacheapusa.com/#]cheap
    viagra usa without prescription[/url] any earth
    generic viagra sales away main http://viacheapusa.com/